श्री नीतीश कुमार को फिर पार्टी की कमान

बुधवार, 30 अक्टूबर 2019 को नई दिल्ली के मावलंकर हॉल में आयोजित जदयू राष्ट्रीय परिषद की बैठक में मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार को दोबारा सर्वसम्मति से पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना गया। उनका कार्यकाल तीन साल का होगा। इसके साथ ही उन्हें नई कार्यसमिति गठित करने के लिए भी अधिकृत किया गया। बैठक में जदयू को राष्ट्रीय पार्टी बनाने और विकास का ‘बिहार मॉडल’ अन्य राज्यों तक पहुँचाने का संकल्प लिया गया और झारखंड एवं दिल्ली विधानसभा चुनाव अपने बलबूते लड़ने की घोषणा की गई। पार्टी की इस महत्वपूर्ण बैठक में बिहार प्रदेश जदयू अध्यक्ष व राज्यसभा सदस्य श्री बशिष्ठ नारायण सिंह, प्रधान महासचिव श्री केसी त्यागी, राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) व राज्यसभा में दल के नेता श्री आरसीपी सिंह, लोकसभा में दल के नेता श्री राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह, उपाध्यक्ष श्री प्रशांत किशोर, राष्ट्रीय महासचिव श्री पवन वर्मा, श्री श्याम रजक, श्री संजय झा, श्री अफाक अहमद, श्री रामसेवक सिंह कुशवाहा समेत सभी राष्ट्रीय पदाधिकारी, सभी प्रदेशों के अध्यक्ष, पार्टी के सांसद, मंत्री, विधानमंडल दल के सदस्यएवं देश भर के पदाधिकारी शामिल हुए।


 सुबह 11 बजे शुरू हुई इस बैठक में सर्वप्रथम पार्टी के राष्ट्रीय निर्वाचन पदाधिकारी श्री अनिल हेगड़े ने श्री नीतीश कुमार का नाम राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए प्रस्तावित किया। बैठक में मौजूद सभी प्रतिनिधियों ने सर्वसम्मति से उनके प्रस्ताव पर मुहर लगाई। इसके बाद दूसरा प्रस्ताव राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्यों के चयन के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष को अधिकृत करने का पेश किया गया। इस प्रस्ताव को भी सर्वसम्मति से स्वीकार कर लिया गया।


 बैठक को संबोधित करते हुए श्री नीतीश कुमार ने कहा कि पद में मेरी कोई रुचि नहीं है, हम सिर्फ काम करना चाहते हैं। झारखंड, दिल्ली और उत्तर-पूर्व के राज्यों में पार्टी बेहतर कर रही है और बतौर राष्ट्रीय अध्यक्ष हम पार्टी को राष्ट्रीय दर्जा दिलाने के लिए काम करेंगे। उन्होंने एक बार फिर पिछड़े राज्यों को विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने का मुद्दा उठाते हुए कहा कि पिछड़े राज्यों को आगे बढ़ाना है, तो इन्हें विशेष राज्य का दर्जा मिलना जरूरी है। शराबबंदी का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार में शराबबंदी लागू होने के बाद लोग इससे मिलने वाले टैक्स की चिन्ता करते हैं, लेकिन शराब से बर्बाद होने वाले पैसे की बात कोई नहीं करता है। शराबबंदी से सामाजिक सौहार्द्र बढ़ा है और इससे परिवार में भी कलह कम हुई है। कुछ लोग बिहार में होम डिलिवरी की बात करते हैं, ऐसी बात करने वाले खुद शराबी हैं। उन्होंने पार्टी के नेताओं से शराबबंदी और जल-जीवन-हरियाली जैसी अभियानों को जनता के बीच ले जाने को कहा। साथ ही गांधी जी के बताए सात पापों का जिक्र करते हुए कहा कि पार्टी के नेता-कार्यकर्ता इन पापों की समाप्ति को भी बाकायदा अभियान के रूप में लें। ये सात पाप हैं – 1. सिद्धांत के बिना राजनीति, 2. काम के बिना धन, 3. विवेक के बिना सुख, 4. चरित्र के बिना ज्ञान, 5. नैतिकता के बिना व्यापार, 6. मानवता के बिना विज्ञान और 7. त्याग के बिना पूजा। 


अपने लगभग एक घंटे के संबोधन में श्री नीतीश कुमार ने बिहार की कानून-व्यवस्था, आधारभूत संरचना, शिक्षा एवं स्वास्थ्य के क्षेत्र में सुधार, महिला सशक्तिकरण की दिशा में उठाए गए कदम और राज्य सरकार की अन्य उपलब्धियों की चर्चा की। बड़बोले नेताओं को नसीहत देते हुए उन्होंने कहा कि कुछ लोगों को बोलने की आदत होती है, लेकिन हम काम करने में विश्वास करते हैं। गठबंधन पर उन्होंने कहा कि कोई भी गठबंधन हो, जदयू अपने चुनाव घोषणा-पत्र पर काम करता है। पिछले चुनाव में पार्टी ने सात निश्चय का एजेंडा तय किया और गठबंधन बदलने के बाद भी सरकार उसी पर काम कर रही है। उन्होंने विकास के बिहार मॉडल को सभी राज्यों में पहुँचाने का आह्वान किया।


 राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) व राज्यसभा में दल के नेता श्री आरसीपी सिंह ने कहा कि मैं सर्वप्रथम अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष के प्रति आभार प्रकट करता हूँ कि उन्होंने फिर से यह पद ग्रहण करने की स्वीकृति दी। उन्होंने कहा कि हम सब लोगों के बहुत खुशामद करने पर वे इसके लिए तैयार हुए, जबकि बाकी पार्टियों में परमानेंट अध्यक्ष बने हुए हैं। हमें अपने नेता की सोच और उनके विचार के सहारे आगे चलना है। आज हमलोग हिन्दुस्तान की छठे नंबर की पार्टी हैं, हमलोगों के 22 सांसद और सौ से ज्यादा एमएलए-एमएलसी हैं, यह साधारण बात नहीं। हमलोगों को अभी और आगे बढ़ना है ताकि जदयू राष्ट्रीय दल के रूप में उभरे। 


प्रधान महासचिव श्री केसी त्यागी ने कहा कि कोई भी नेता अपनी जात-पात या प्रांत के बाहर इतना सम्मानित नहीं, जितना श्री नीतीश कुमार हैं। हम इस पर बात करें कि ऐसे लोगों के पीछे जनता न भागे, जिसके पीछे सीबीआई भाग रही है। लोकसभा में दल के नेता श्री राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह ने कहा कि पार्टी के सिद्धांत और श्री नीतीश कुमार की छवि की वजह से पार्टी का अरुणाचल प्रदेश तक विस्तार हुआ है। 2020 का चुनाव दिल्ली और झारखंड में इस तरह लड़ें कि हमें राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा मिले। राष्ट्रीय महासचिव, पार्टी के दिल्ली प्रभारी एवं बिहार के जलसंसाधन मंत्री श्री संजयझा ने कहा कि हम दिल्ली में दमखम से लड़ेंगे।बैठक को श्री प्रशांत किशोर, श्री पवन वर्मा, श्री श्याम रजक, श्री रामसेवक सिंह कुशवाहा, श्री रामनाथ ठाकुर, श्रीमती कहकशां परवीन, श्री अली अशरफ फातमी, श्री सालखन मुर्मू आदि नेताओं ने भी संबोधित किया।

Magazine

Facebook

Janata Dal United

आप जनता दल यूनाइटेड के आधिकारिक वेब पोर्टल पर हैं। आप चाहें तो हमसे संवाद भी करें। सुझाव हों, तो जरूर दें, हम स्वागत करेंगे।       संवाद

Contact Us

149, MLA Flat, Virchand Patel Path
Patna-800001
jdumedia@gmail.com

Follow Us

Janata Dal United