चुनाव की घोषणा के साथ आया 7निश्चय-2

Published on September 26, 2020

बिहार विधानसभा चुनाव की घोषणा के महज छह घंटे बाद मुख्यमंत्री श्रीनीतीश कुमार ने सात निश्चय पार्ट-2 की घोषणा कर दी। इसके जरिये उन्होंने स्पष्ट कर दिया कि बीते पंद्रह वर्षों में जो काम उनकी सरकार ने किया, उसके आगे का खाका भी उनके दिमाग में बहुत साफ है। विकास के मोर्चे पर श्री नीतीश कुमार कड़ी-दर-कड़ी आगे बढ़ने की रणनीति पर चलते रहे हैं। सड़क, बिजली, शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में आधारभूत संरचना के विकास ने जब आकार और शुरुआती मुकाम हासिल करना शुरू किया तो उन्होंने 2015 के चुनाव में पहली बार सात निश्चय की घोषणा की। उनके ये सात निश्चय दरअसल अलग-अलग वर्गों और गांवों को मजबूती देने पर केन्द्रित थे। इस बार के सात निश्चय पिछले निश्चयों की आगे की कड़ी हैं। बीते चुनावों में उन्होंने गांवों, युवाओं, छात्रों, महिलाओं के लिए विशेष राहतों को शामिल किया तो बिजली, पानी, सड़क और शिक्षा के क्षेत्र में शहर से गांव तक आधारभूत संरचना के निर्माण कर आत्मनिर्भर बनाने के एजेंडे को शामिल किया गया। एक तरफ 12वीं के बाद की पढ़ाई के लिए स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड पर चार लाख तक लोन, बेरोजगार युवाओं को प्रति माह एक हजार रुपये स्वयं सहायता भत्ता और उन्हें हुनरमंद बनाने के लिए कुशल युवा कार्यक्रम की शुरुआत की। आरक्षित रोजगार महिलाओं का अधिकार के तहत उनके लिए राज्य सरकार की सभी नौकरियों में 35 प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान किया। दूसरी तरफ हर घर बिजली और हर घर नल का जल राज्य के हर परिवार को सरकार की योजना का लाभ पहुंचाने का निश्चय था। इसी तरह हर घर तक पक्की गली-नाली और शौचालय के निश्चय आम अवाम के सम्मान, सुविधा और समृद्धि से जुड़े हैं। वहीं, सातवां निश्चय अवसर बढ़े आगे पढ़ें उच्चतर शिक्षा के क्षेत्र में आधारभूत संरचना के विकास पर केन्द्रित था। इसके तहत जिलों में मेडिकल, इंजीनियरिंग, जीएनएम कॉलेज और अनुमंडलों में आईटीआई स्थापित करने की पहल हुई।   इस बार के सात निश्चय साफ तौर पर इनकी आगे की कड़ी हैं। मसलन युवा शक्ति बिहार की प्रगति। इसके तहत युवाओं के उद्यमिता और कौशल विकास के लिए अलग विभाग की स्थापना एक बड़ा फैसला होगा। आईटीआई और पॉलिटेक्निक इसके अधीन होंगे। संस्थानों की गुणवत्ता सुधारी जाएगी। सशक्त महिला सक्षम महिला का निश्चय महिलाओं को न केवल समृद्धि देगा बल्कि आत्मनिर्भर भी बनाएगा। उन्हें उद्योग स्थापित करने के लिए 5 लाख लोन तो पांच लाख का अनुदान मिलेगा। छात्राओं को इंटर करने पर 25 हजार और स्नातक करने पर 50 हजार की सहायता उनकी आगे की पढ़ाई में सहायक होगा। क्षेत्रीय प्रशासन में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाने का निश्चय भी इसमें शामिल है।   सिंचाई के लिए अलग बिजली फीडर का निर्माण पूरा होने के बाद अब हर खेत को पानी का निश्चय यह बताता है कि किसानों के लिए सिंचाई सुविधा पक्की करने का इरादा है। इसी तरह स्वच्छ गांव समृद्ध गांव, स्वच्छ शहर विकसित शहर और सुलभ संपर्कता के अलावा सबके लिए स्वास्थ्य निश्चयों के तहत शहर और गांवों को सड़क, बिजली, जल निकासी, कचरा प्रबंधन के मोर्चे पर आधारभूत संरचना से लैस करने का एजेंडा है। शहरी गरीबों के लिए बहुमंजिली इमारतों और बुजुर्गों के लिए आश्रय स्थलों के निर्माण को स्वच्छ शहर, विकसित शहर के निश्चय में शामिल किया गया है। यानि विकसित बिहार की परिकल्पना की ये कड़ी हैं। अंतिम संस्कार समय के साथ बड़ी चुनौती बनकर पेश आ रहे हैं। सभी शहरों में विद्युत शवदाह गृह और मोक्षधाम के निर्माण इसी चुनौती से निपटने का निश्चय है।   कहने की जरूरत नहीं कि इन निश्चयों के माध्यम से श्री नीतीश कुमार ने जहां एक ओर विपक्ष के सामने इससे इतर विकास का मॉडल पेश करने की बड़ी चुनौती पेश कर दी है, वहीं बिहार की 12 करोड़ जनता को आश्वस्त भी किया है कि विकास के जिस पथ पर बिहार चल रहा है, उस पर उसके पांव आगे भी मजबूती से टिके रहेंगे।

important links

Janata Dal United

आप जनता दल यूनाइटेड के आधिकारिक वेब पोर्टल पर हैं। आप चाहें तो हमसे संवाद भी करें। सुझाव हों, तो जरूर दें, हम स्वागत करेंगे।

Contact us

149, MLA Flat, Virchand Patel Path Patna-800001

Follow  us

PHOTO    GALLERY    VIDEO    GALLERY    NEWS    SPEECHES    AAPKI    KHABREIN    JDU LIVE
linkedin facebook pinterest youtube rss twitter instagram facebook-blank rss-blank linkedin-blank pinterest youtube twitter instagram