विधानसभा का चुनाव जदयू का संगठन लड़ेगा

जदयू के राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) व राज्यसभा में दल के नेता श्री आरसीपी सिंह ने 27-28 सितंबर 2020 कोसंगठन की चार महत्वपूर्ण बैठकें कीं। 27 सितंबर को दो बैठकें हुईं, जिनमें पहली बैठक क्षेत्रीय संगठन प्रभारियों एवं दूसरी बैठक सभी प्रकोष्ठों के प्रदेश अध्यक्षों के साथ थी। इन बैठकों में कोरोना को देखते हुए चुनाव आयोग द्वारा जारी दिशा-निर्देशों पर चर्चा करने के साथ ही चुनावी रणनीति पर बात हुई तथा क्षेत्रीय प्रभारियों व प्रकोष्ठ अध्यक्षों को उन्होंनेकई दिशा-निर्देश दिए। क्षेत्रीय प्रभारियों की बैठक में पूर्व विधानपार्षद श्री संजय कुमार सिंह उर्फ गांधीजी,राष्ट्रीय सचिव श्री रवीन्द्र सिंह, क्षेत्रीय प्रभारी श्री ललन सर्राफ, प्रो. रणवीर नंदन, डॉ. नवीन कुमार आर्य, श्री अनिल कुमार, श्री मंजीत सिंह, श्री परमहंस, श्री चंदन कुमार सिंह, डॉ. अमरदीप, श्री सुनील कुमार, श्री कामाख्या नारायण सिंह, श्री अशोक कुमार बादल, डॉ. बिपिन कुमार यादव, श्री पंचम श्रीवास्तव, श्री रामगुलाम राम, श्री आसिफ कमाल मौजूद रहे। 


वहीं, प्रकोष्ठ अध्यक्षों की बैठक मेंश्री आरसीपी सिंह,प्रदेश महासचिव डॉ. नवीन कुमार आर्य एवं श्री अनिल कुमार के साथअल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के अध्यक्ष श्री तनवीर अख्तर, समाज सुघार वाहिनी की अध्यक्ष डॉ. रंजू गीता, मीडिया सेल के अध्यक्ष डॉ. अमरदीप,महिला जदयू की अध्यक्ष श्रीमती श्वेता विश्वास, प्रशिक्षण प्रकोष्ठ के अध्यक्ष श्री सुनील कुमार, अतिपिछड़ा प्रकोष्ठ के अध्यक्ष श्री संतोष महतो, महादलित प्रकोष्ठ के अध्यक्ष श्री रूबेल रविदास, दलित प्रकोष्ठ के अध्यक्ष डॉ. रामप्रवेश पासवान, तकनीकी प्रकोष्ठ के अध्यक्ष ई. रामचरित्र प्रसाद, सेवादल प्रकोष्ठ के अध्यक्ष श्री बिशन कुमार बिट्टू, नगर निकाय प्रकोष्ठ के अध्यक्ष श्री रंजीत प्रभाकर, चिकित्सा सेवा प्रकोष्ठ के अध्यक्ष डॉ. एलबी सिंह, विधि सेवा प्रकोष्ठ के अध्यक्ष श्री सुभाष प्रसाद सिंह,शिक्षा प्रकोष्ठ के अध्यक्ष डॉ. कन्हैया सिंह, बुनकर प्रकोष्ठ के अध्यक्ष श्री राजेश पाल, जलश्रमिक प्रकोष्ठ के अध्यक्ष श्री सुनील भारती,छात्र जदयू के अध्यक्ष श्री श्याम पटेल, किसान प्रकोष्ठ के अध्यक्ष श्री मनोज कुमार, आदिवासी प्रकोष्ठ के अध्यक्ष श्री जगजीवन नायक, पंचायती राज प्रकोष्ठ के अध्यक्ष श्री सुनील कुमार, श्रमिक प्रकोष्ठ के अध्यक्ष श्री राजेन्द्र सिंह जॉर्ज, कला-संस्कृति प्रकोष्ठ के अध्यक्ष श्री सत्येन्द्र संगीत, समाज सुधार सेनानी प्रकोष्ठ के अध्यक्ष श्री जीतेन्द्र नीरज, कलमजीवी प्रकोष्ठ के अध्यक्ष डॉ. प्रभात चन्द्र आदि मौजूद रहे। 


श्री आरसीपी सिंह ने इन बैठकों के दौरान अपने संबोधन में कहा कि मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में राज्य में अनगिनत कार्य हुए हैं। संगठन के सभी साथियों का दायित्व है कि उन कार्यों की चर्चा बूथ स्तर तक और घर-घर जाकर हो। उन्होंने कहा कि इस चुनाव में न तो कोई बड़ी सभा होगी, न ही कोई रोड शो होगा। हमें छोटी-छोटी बैठकें करनी होंगी और कार्यकर्ताओं को घर-घर जाकर अपने नेता का काम बताना होगा। उन्होंने कहा कि कोरोना के दौरान श्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में जितने कार्य हुए हैं और जिस तरह सहायता उपलब्ध कराई गई है उसका देश में कोई दूसरा उदाहरण नहीं। राज्य के हर नागरिक के खाते में सीधे विभिन्न मदों की राशि भेजी गई है। हमें इन तमाम बातों को नीचे तक पहुंचाना होगा। सात निश्चय-2 के तहत की गई घोषणाओं की चर्चा भी मजबूती से करनी है। उन्होंने कहा कि हमें अपने समर्थकों के साथ ही राज्य के सभी मतदाताओं तक अपनी पहुंच बनानी है। इसके लिए सोशल मीडिया और अन्यनई तकनीकों का समुचित उपयोग भी सुनिश्चित करना है।


 28 सितंबर को भी दो पालियों में बैठक हुई। पहली बैठक जिलाध्यक्षों के साथ तो दूसरी बैठक जिला संगठन प्रभारियों के साथ थी। इन बैठकों में जदयू के राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) श्री आरसीपी सिंह, बिहार प्रदेश जदयू के नवनियुक्त कार्यकारी अध्यक्ष श्री अशोक चौधरी, कोषाध्यक्ष श्री ललन सर्राफ, प्रदेश महासचिव डॉ. नवीन कुमार आर्य एवं श्री अनिल कुमार, जदयू मीडिया सेल के अध्यक्ष डॉ. अमरदीप तथा क्षेत्रीय संगठन प्रभारी श्री मंजीत सिंह, डॉ. बिपिन यादव, श्री कामाख्या नारायण सिंह, श्री सुनील कुमार, श्री अशोक कुमार बादल, श्री पंचम श्रीवास्तव एवं श्री आसिफ कमाल मौजूद रहे। 


बैठक के दौरान अपने संबोधन में श्री आरसीपी सिंह ने सभी जिलाध्यक्षों एवं जिला संगठन प्रभारियों को बधाई देते हुए कहा कि आप सभी की मेहनत की बदौलत संगठन के मामले में जदयू आज नंबर एक पार्टी है। आज जदयू का संगठन न केवल बूथ तक है बल्कि सोशल मीडिया के माध्यम से भी हर बूथ के साथी जुड़ चुके हैं। उन्होंने कहा कि विधानसभा का चुनाव पार्टी का संगठन लड़ेगा। किसी उम्मीदवार को किसी प्रकार की चिन्ता करने की जरूरत नहीं। बस अपने नेता श्री नीतीश कुमार के चेहरे को सामने रखकर संगठन की पूरी ताकत चुनाव में लगा दें। बिहार को विकसित प्रदेश बनाने के लिए श्री नीतीश कुमार का चौथी बार आना जरूरी है। हमें हर सीट को जीतने का संकल्प लेना है।


 श्री आरसीपी सिंह ने आगे कहा कि चुनाव में पंचायत को कार्यक्षेत्र बनाकर बूथ केन्द्रित कैम्पेन करें। सात निश्चय-2 के बारे में नीचे तक बताएं। साथ ही कोरोना काल में हुए कार्यों की पूरी जानकारी दें। उन्होंने कहा कि बिहार अकेला प्रदेश है जहां किसी किसान ने आत्महत्या नहीं की और न ही कोई भूख से मरा। राज्य सरकार के साथ ही केन्द्र सरकार ने भी पर्याप्त सहायता दी। 


इस मौके पर श्री अशोक चौधरी ने कहा कि मेरे लिए यह सम्मान और गर्व की बात है कि चुनाव के समय मुझे कार्यकारी अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी गई है। उन्होंने कहा कि बिल गेट्स और दलाई लामा जैसी हस्तियों ने हमारे नेता श्री नीतीश कुमार की भूरि-भूरि प्रशंसा की है, उनके साथ काम करना मेरा सौभाग्य है। हम सबको उनके आदर्शों पर चलते हुए कंधे से कंधा मिलाकर कार्य करना है। चुनाव के संदर्भ में उन्होंने कहा कि हमें इस चुनाव में 200 से ज्यादा सीटें हासिल करनी हैं और इसके लिए जरूरी है कि हमारा स्ट्राइक रेट ज्यादा से ज्यादा हो।

Magazine

Facebook

Janata Dal United

आप जनता दल यूनाइटेड के आधिकारिक वेब पोर्टल पर हैं। आप चाहें तो हमसे संवाद भी करें। सुझाव हों, तो जरूर दें, हम स्वागत करेंगे।       संवाद

Contact Us

149, MLA Flat, Virchand Patel Path
Patna-800001
jdumedia@gmail.com

Follow Us

Janata Dal United