नीतीश के निश्चय संवाद ने रचा इतिहास

जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष व मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार ने सोमवार, 7 सितंबर 2020 को वर्चुअल रैली के साथ अपने चुनावी अभियान का शंखनाद किया। उन्होंने पटना स्थित जदयू मुख्यालय में बने नवनिर्मित कर्पूरी सभागार के मंच से रैली को संबोधित किया। इसे निश्चय संवाद का नाम दिया गया था। इस दौरान श्री राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह, श्री बिजेन्द्र प्रसाद यादव, श्री विजय चौधरी, श्री संजय झा एवं श्री अशोक चौधरी मंच पर तथा अन्य वरीय नेता, क्षेत्रीय संगठन प्रभारीएवं प्रवक्तागण सभागार में मौजूद रहे। 


रैली के दौरान अपने लगभग तीन घंटे के संबोधन में श्री नीतीश कुमार ने कोरोना संक्रमण के दौरान किए गए कार्यों को बताया, साथ ही लोगों से इसको लेकर सजग व सतर्क रहने की अपील की।उन्होंने कहा कि बिहार में कोरोना को लेकर कुछ लोग बगैर जानकारी कुछ भी बोलते रहते हैं। वे उसपर ध्याोन नहीं देते हैं, काम करते हैं। बहुत लोगों को काम कम, प्रचार ज्याअदा चाहिए।आपदा राहत के अन्य कार्यों की चर्चा के दौरान उन्होंने बताया कि क्यों लोगों ने उनका नाम क्विंटलिया बाबा रख दिया था। उन्होने नाम लिए बिना आलोचकों की भी खबर ली और अपने कार्यकाल के 15 वर्षों की उपलब्धियां बताते हुए उससे पूर्व के 15 वर्षों की भी चर्चा की। 


श्री नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार सरकार कोरोना वायरस को लेकर मार्च से ही सतर्क थी। 22 मार्च को बिहार में जनता कर्फ्यू लगाया गया, फिर लॉकडाउन लागू कर दिया गया। पूरे देश में 25 मार्च से मई तक लॉकडाउन लागू रहा। इस दौरान बिहार में केंद्र की गाइडलाइन का पालन करते हुए कई कार्य किए गए। अब अनलॉक का दौर है।उन्होंने कहा कि बिहार में लॉकडाउन के दौरान 23 लाख 38 हजार लोगों के राशन कार्ड बनवाए गए। अन्य राज्यों से लौटे लोगों के रोजगार के भी इंतजाम किए गए। रोजगार के लिए कानून तक में बदलाव किए जा रहे हैं। नई नीतियां बनाई गईं। लाखों लोगों को काम दिया गया। प्रभावित लोगों को 1000 रुपये की सहायता राशि दी गई। राशन उपलब्ध कराया गया। 


श्री नीतीश कुमार ने आगे कहा कि बिहार में कोरोना जांच की रफ्तार में तेजी आई है। रोजाना डेढ़ लाख मरीजों की जांच हो रही है। इलाज के लिए राज्य में पर्याप्त संख्या में आईसीयू बेड हैं। राज्यल के अस्पताल भी हर स्थिति के लिए तैयार हैं। केंद्र सरकार भी बिहार में दो कोरोना अस्पयताल बना रही है। एक पटना के बिहटा में और दूसरा मुजफ्फरपुर में। अगर बिहार में कोरोना संक्रमण बढ़ता है तो केंद्र सरकार भी इन अस्प तालों के माध्युम से मदद करेगी। श्री नीतीश कुमार ने कहा कि सरकार कोरोना की जांच व उसके इलाज को लेकर गंभीर है। कोरोना की जांच के लिए अमेरिका से और मशीन आ रही है। कोरोना को पूरी दुनिया का संकट बताते हुए उन्होंाने कहा कि कोरोना का ट्रेंड आगे क्याी होगा, नहीं पता। दिल्लीू में यह नीचे जा रहा था, लेकिन अब ऊपर जा रहा है। सजग व सतर्क रहने से ही इस महामारी से मुक्ति मिलेगी। कोरोना संक्रमण रोकने के लिए मास्क का उपयोग और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन जरूरी है। हाथ धोते रहें, सैनिटाइजर का प्रयोग करें। शारीरिक दूरी बनाए रखें। बुजुर्ग, गर्भवती व बच्चेर घर से बाहर नहीं निकलें। 


मुख्य मंत्री ने बिहार में बाढ़ व सूखा की चर्चा करते हुए कहा कि साल 2007 में आई बाढ़ से करीब ढाई करोड़ लोग प्रभावित हुए थे। तब लोगों को ढ़ाई क्विंटल अनाज देने की व्यरवस्था की थी। उस दौरान लोगों ने क्विंटलिया बाबा का नाम दे दिया। अगर पहले लोगों को अनाज दिए गए होते तो वे क्योंन ऐसा कहते?उन्होंगने कहा कि इस साल बाढ़ से 16 जिलों में लोग बाढ़ प्रभावित हुए हैं। सरकार ने बाढ़ प्रभावित इलाकों में राहत व बचाव कार्य किए। सामुदायिक किचन से पूरे राज्य में 10 लाख लोगों को खाना खिलाया। साथ ही कोरोना की जाँच भी करवायी। राहत केंद्रों में शारीरिक दूरी बनाने की कोशिश की गई। बाढ़ के साथ कोरोना का भी ध्यायन रखा, नहीं तो स्थिति बिगड़ जाती। जरा याद कीजिये कि आपदा के वक्ता पहले क्या होता था।


 कानून-व्यवस्था की चर्चा करते हुए श्री नीतीश कुमार नेकहा कि पति-पत्नी के 15 वर्षों के राज में कानून-व्यवस्था की स्थिति क्या थी और आज क्या है, यह देखने की जरूरत है। लालू राज में कई नरसंहार हुए, लोग शाम होने के पहले घर पर चले जाते थे। लोग गवाही देने के लिए नहीं निकलते थे। आज बिहार अपराध के मामले में देश में 23वें नंबर पर है। 2018 में प्रति एक लाख की आबादी पर देश में अपराध की दर 350 थी, जो बिहार में 222 है। उन्होंएने बताया कि सरकार ने भागलपुर के दंगा के दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की। नक्सल उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र में काम करने के लिए सरकार ने ने 65पंचायतों का चयन कराया। सांप्रदायिक और सामाजिक सद्भाव कायम रखने के लिए लगातार काम किया गया। 


सरकार के अन्यन कार्यों की चर्चा करते हुए श्री नीतीश कुमार ने कहा कि उनकी सरकार ने शिक्षकों को ईपीएफ का लाभ दिया। आगे अप्रैल 2021 से 15 प्रतिशत वेतन भी बढ़ाने जा रहे हैं। छात्रों के लिए स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड की योजना शुरू की। अब तक एक लाख से ज्यादा छात्र स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड का फायदा ले चुके हैं। पहले पांचवीं के बाद बच्चियों को स्कूल नहीं भेजा जाता था। इसे देखते हुए साल 2007 में पोशाक और साइकिल योजना शुरू की। उस वक्त। इसका विरोध किया गया था,लेकिन आज लड़कियां आराम से स्कूल जाती हैं। उन्हों ने कहा कि उनके कार्यकाल में बिहार में तीन मेडिकल कॉलेज बनाये गए तथा आठ और बन रहे हैं। 


भूमि, सड़क, कृषि व बिजली के क्षेत्र में किए गए कार्यों की चर्चा करते हुए श्री नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में 18 मेगा पुल बनवाए गए हैं। केंद्र सरकार की मदद से कई राष्ट्री य उच्चइ पथ बनाए जा रहे हैं। कृषि के क्षेत्र में किए गए काम की चर्चा करते हुए कहा उन्होंने कहा कि कृषि का सबसे ज्यादा विकास करना जरूरी है। इसके लिए वे कृषि रोड मैप के जरिये काम कर रहे हैं। फसलों की उत्पादकता बढ़ी है। श्री नीतीश कुमार ने कहा कि आज घर-घर में बिजली पहुंच गई है। अब लोगों को लालटेन की कोई जरूरत नहीं है। नया सर्वे सेटलमेंट हो रहा है, जिससे जमीन के विवाद कम हो जाएंगे। साथ ही दाखिल-खारिज को अद्यतन करने का अभियान चलाया गया। श्री नीतीश कुमार ने बताया कि पहली बार किसी पार्टी का अपना लाइव डॉट कॉम शुरू किया गया है। उन्होंकने इसके लिए सभी साथियों को धन्यवाद दिया। उन्होंकने कहा कि लॉकडाउन के दौरान भी उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से संवाद किया था। उसके बाद 24 खंड में बांटकर पार्टी के सक्रिय साथियों से लेकर बूथ स्तर तक के कार्यकर्ताओं के साथ सभी जिलों में 24 कार्यक्रम आयोजित किए गए। जून महीने में सभी के साथ संवाद चलता रहा। मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार के निश्चय संवाद से 30 लाख से अधिक लोग जुड़े।पार्टी ने इसे अपने डिजिटल प्लेटफॉर्म जेडीयू लाइव डॉटकॉम पर लाइव प्रसारित किया। इसके लिए सोशल मीडिया के अन्य प्लेटफॉर्म का भी इस्तेमाल किया। रैली को पंचायत से लेकर छोटे चौक चौराहों पर पहुंचाने के लिए कई जगह टीवी स्क्रीन, प्रोजेक्टर और एलईडी की व्यवस्था भी की गई थी। कहने की जरूरत नहीं किइस रैली ने जनसंवाद का नया इतिहास रचते हुए जदयू के तमाम कार्यकर्ताओं में एक नई ऊर्जा का संचार किया।

Magazine

Facebook

Janata Dal United

आप जनता दल यूनाइटेड के आधिकारिक वेब पोर्टल पर हैं। आप चाहें तो हमसे संवाद भी करें। सुझाव हों, तो जरूर दें, हम स्वागत करेंगे।       संवाद

Contact Us

149, MLA Flat, Virchand Patel Path
Patna-800001
jdumedia@gmail.com

Follow Us

Janata Dal United